30 लाख में बनी सरकारी ड‍िस्पेंसरी ढाई साल पहले ताला आज तक पड़ा है

30 लाख में बनी सरकारी ड‍िस्पेंसरी ढाई साल पहले ताला आज तक पड़ा है

ग्राम पंचायत मुख्यालय पर लगे प्रशासन गांव के संग शिविर में अस्पताल को खुलवाने के लिए लिखित में शिकायत की है और पूर्व में भी कई बार चिकित्सा महकमे के उच्च अधिकारियों से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर नर्सिंग कर्मियों एवं चिकित्सकों को तैनात करने की मांग कर चुके है. लेकिन हर बार कोरे आश्वासन के कुछ नहीं मिलता है. ऐसे में अब ग्रामीणों के सब्र की सीमा समाप्त हो गई है और उन्होंने जिला कलेक्टर से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इंदौली में स्टाफ की नियुक्ति की मांग की है 24 जून, 2019 को राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इंदौली का उदघाटन हुआ था. 30 लाख रुपये की लागत से हॉस्पिटल बना था लेकिन इस अस्पताल में आजतक कोई भी चिकित्साकर्मी यहां नहीं बैठा. सरकार इस अस्पताल को जल्द शुरू करे.ग्रामीण रमाकांत शर्मा ने बताया कि 2019 में अस्पताल का उद्घाटन हुआ था, लेकिन आज तक इसमें कोई भी डॉक्टर या दूसरा चिकित्साकर्मी नहीं आया. हम लोगों को इलाज के लिए कई किलोमीटर दूर जाना पड़ता है. सरकार इस अस्पताल को जल्द शुरू करे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गोपाल गोयल ने बताया कि अस्पताल में ताला लगने की जानकारी मेरे संज्ञान में आई हैं. इसको लेकर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply