बुलंदशहर: स्याना हिंसा कांड, राजद्रोह में जमानत

बुलंदशहर: स्याना हिंसा कांड, राजद्रोह में जमानत

बुलंदशहर(मोहित गोमत) : स्याना हिंसा कांड के मुख्य आरोपी बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज अब जल्द जेल से बाहर आ सकता है।
क्योंकि स्याना हिंसा के मुख्यारोपी योगेश समेत चार को प्रयागराज हाई कोर्ट ने राजद्रोह के आरोप में जमानत केे आदेश दे दिये है।
इसके बाद ये उम्मीद जताई जा रही है कि ये चारो आरोपी बुलंदशहर जेल से शीघ्र रिहा होगे।
3 दिसंबर 2018 यह वो तारीख है जिस तारिख़ को बुलन्दशहर का स्याना-चिंगरावठी इलाका कतिथ गौकशी की घटना के हिंसा की जिस आग में जला था वो पूरे देश ने देखा था।

तस्वीर बुलंदशहर के बजरंगदल के जिला संयोजक योगेश राज की है, जिसे एसआईटी ने 3 दिसंबर को स्याना में हुई हिंसा भड़काने से मुख्यारोपी माना था।
दरअसल 3 दिसंबर 2018 को स्याना में भड़की हिंसा के दौरान बलवाइयों ने चिंगरावटी पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया था, चौकी पर खड़े दर्जनों वाहनों को फूंक डाला था , हिंसा के दौरान  इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और एक युवक सुमित कुमार की गोली लगने से मौत हो गई थी। पुलिस ने बजरंगदल के जिला संयोजक को मुख्यारोपी बनाते हुए 27 लोगों को नामजद कर, पचास का अज्ञाता के खिलाफ हत्या आगजनी और बलवे जैसी गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया था।
घटना के 1 महीने बाद एसआईटी ने योगेश को गिरफ्तार कर जेल भेजा था योगेश राज के अधिवक्ता ब्रूनो भूषण की मानें तो आज योगेश राज, चमन, देवेंद्र और सोनू की राजद्रोह की धारा 124 A में योगेश को प्रयागराज हाई कोर्ट से जमानत आदेश हुए हैं।
और अब शीघ्र ही बुलंदशहर न्यायालय में जमानत ई दाखिल कर योगेश बुलंदशहर जिला जेल से बाहर होगा ।

ग़ौरतलब है कि बजरंगदल के जिला संयोजक योगेश राज सहित चारों आरोपियों की आगजनी, हत्या, बल्बे आदि में जमानत पहले ही हो चुकी थी।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply