फाइटर जेट्स की कमी क्रिकेट टीम में 11 की जगह 7 प्लेयर होने जैसी: IAF चीफ

फाइटर जेट्स की कमी क्रिकेट टीम में 11 की जगह 7 प्लेयर होने जैसी: IAF चीफ
IAF के पास मौजूदा वक्त में 32 स्क्वॉड्रन हैं और भारत पर चीन-पाकिस्तान की तरफ से खतरा बना रहता है। एक स्क्वॉड्रन में 16-18 फाइटर प्लेन होते हैं। (फाइल)
नई दिल्ली. एयरचीफ मार्शल बीएस धनोवा ने कहा है कि एयरफोर्स में फाइटर जेट्स की कमी है। उन्होंने कहा कि ये कुछ ऐसा है जैसे क्रिकेट टीम 11 की बजाय 7 प्लेयर से खेले। जब हम पाकिस्तान को आतंकी हमले को लेकर अपनी ताकत दिखाने को तैयार हैं, तो सरकार को जेट्स की संख्या बढ़ाने के बारे में सोचना चाहिए। IAF हर तरह से कैपेबल…

– द इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में धनोवा ने कहा, “इंडियन एयरफोर्स (IAF) के पास हर तरह की कैपेबिलिटी है। हम माओवादियों के खिलाफ एक्शन ले सकते हैं लेकिन ये सब तब होगा जब सरकार से हरी झंडी मिलेगी।”
– “अगर हमें दो मोर्चों पर लड़ना है तो हमारे पास कम से कम 42 फाइटर स्क्वॉड्रन होनी चाहिए।” बता दें कि IAF के पास मौजूदा वक्त में 33 स्क्वॉड्रन हैं और भारत पर चीन-पाकिस्तान की तरफ से खतरा बना रहता है। एक स्क्वॉड्रन में 16-18 फाइटर प्लेन होते हैं।
– धनोवा ने ये भी कहा, “दो मोर्चों पर लड़ने के लिए IAF अपने मौजूदा रिसोर्सेज के सहारे ज्यूडिशियस फोर्स इम्प्लॉइमेंट फिलॉसफी पर काम करेगी। जब हमारी स्ट्रेन्थ में इजाफा हो जाएगा तब हम आसमान में दुश्मन से आसमान में बेहतर तरीके से लड़ पाएंगे।”
और क्या बोले धनोवा?
– क्या पाकिस्तान में एरियल सर्जिकल स्ट्राइक की प्लानिंग थी, इस सवाल पर धनोवा ने कहा, “अगर हम पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में आतंकी हमले के मद्देनजर एयर स्ट्राइक करते हैं तो इसका फैसला सरकार को करना है। हम हर चीज के लिए तैयार हैं।”
administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply