द्वारका सेक्टर 23. पुलिस ने मनीष गोगा-गैंग के शार्प-शूटर को ट्रैप लगाकर दबोचा

द्वारका सेक्टर 23. पुलिस ने  मनीष गोगा-गैंग के शार्प-शूटर को ट्रैप लगाकर दबोचा

(अनीता गुलेरिया) द्वारका सेक्टर 23. पुलिस के एसीपी राजेंद्र सिंह की देखरेख में एसएचओ संतन सिंह रावत एसआई विजय सिंह की टीम ने गैंग के भगौडे-मुजरिमों की जानकारी को एकत्रित कर सुचना के आधार पर जाल बिछाते हुए,भरथल-बृजवासन के पास रेलवे-स्टेशन पर रात 9:45 बजे के करीब बिना नंबर-प्लेट सफेद रंग की स्कूटी पर दो युवकों को रोकने पर जब वो यू टर्न लेने लगे, तो पहले से दबिश लगाकर बैठे पुलिसकर्मियों ने इन्हें मौके से धर-दबोचा इन मुजरिमों के पास से एक पिस्टल,दो देसी कट्टे सहित सात जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं । द्वारका डीसीपी एंटो अल्फोनस ने बताया, पकड़े गए आरोपियों के नाम अभिषेक उर्फ अबू उम्र (24) साल कापासेड़ा, दूसरे का नाम चमन लाल उर्फ चिंटू उम्र (21)साल यह भी कापासेड़ा से है । पुलिस की कडी पुछताछ दौरान दोनो ने अपना जुर्म कबुलते हूए बताया यह दोनों मनीष गोगा गैंग के लिए काम करते आ रहे थे । मनीष गोगा-गैंग के दोनों शार्प शूटर गैंग के इशारे पर रंगदारी वसूलने का काम करते आ रहे थे । मनीष गोगा गैंग और कृष्ण बिहारी गैंग में आपसी रंजिश के चलते वह एक दूसरे पर गोलिया चलाते रहते हैं ।2016 में पालम-विहार गुरुग्राम में कृष्ण बिहारी के भाई की हत्या के मामले में अभिषेक गुरुग्राम में डेढ़-साल जेल मे बंद रहने के बाद जमानत पर बाहर आया था ।बाहर आते ही यह मनीष गोगा गैंग के लिए दोबारा से रंगदारी वसूलने का काम करने लगा ।और 2019 में कापासेड़ा में सब्जी-वालों से रंगदारी वसूलते हुए इसने फायरिंग भी करी थी, जिसमें अभिषेक मौके से फरार हो गया था और इसका एक साथी पकडा गया था । तब से कापासेड़ा-पुलिस इसकी तलाश में जुटी थी । यह दोनों आरोपी 12वीं क्लास तक एक ही स्कूल में पढ़ते थे और बुरी संगत में पड़ने के कारण यह मनीष गोगा और आशु के साथ जुड़कर गैंग के लिए रंगदारी-वसुली का काम कर रहे थे । इस तरह पुलिस ने इनके खिलाफ मामला दर्ज करते हुए दोनों आरोपियों को जेल की सलाखों के अंदर पहुंचा दिया है ।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply