द्वारका मोहन गार्डन मे दोहरे हत्याकांड के आरोपी को पुलिस ने महज कुछ घंटों में किया गिरफ्तार

द्वारका मोहन गार्डन मे दोहरे हत्याकांड के आरोपी को पुलिस ने महज कुछ घंटों में किया गिरफ्तार

दिल्ली :- (अनीता गुलेरिया) जिला द्वारका मोहन गार्डन इलाके में दृष्टिहीन-दंपत्ति दोहरे हत्याकांड केस की जांच में जूटी द्वारका-पुलिस ऑपरेशन एसीपी राजेंद्र सिंह की  अगुवाई में इंस्पेक्टर नवीन कुमार एस आई अरविंद, एएसआई हंस,हेड कास्टेबल राजकुमार, कांस्टेबल कलभूषण और जगदीश की टीम के इलावा मोहन गार्डन थाना पुलिस एसएचओ बलजीत सिंह, इंस्पेक्टर जगतार सिंह,एस आई नरेश, कांस्टेबल हरदेव,कांस्टेबल हेतराम की मजबूत टीम ने जांच-प्रक्रिया दौरान महज कुछ घंटों में ही हत्या के मुख्य आरोपी को पकड़ते हुए पूरे केस को सुलझाया । द्वारका डीसीपी एंटो अल्फोनस ने मीडिया समक्ष से बताते हुए कहा, कल  शाम सात बजे पुलिस ने सूचना मिलने पर मौके पर दृष्टिहीन दंपत्ति हरि वल्लभ उम्र (51) शांति वल्लभ उमर (47) को कमरे के अंदर  खून से लथपथ मृत-अवस्था में पाया । हरि वल्लभ अपनी पत्नी शांति, बेटी दृष्टि उम्र (27) साल और (22) साल के बेटे ऋषभ के साथ भगवती गार्डन के फ्लैट की तीसरी मंजिल में रहते थे । परिजनों से किसी तरह की रंजिश ना होने और  विशाल सिंह उम्र (30) ग्वालियर से जो एक डेढ़ साल से इस परिवार के साथ घर में फैमिली-मेंबर्स की तरह रहता है पाया गया । पुलिस को घर के अंदर किसी फैमिली-मैबर की एंट्री होने का शक हो गया था । जांच-प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए स्पैशल स्टाफ व स्थानिय पुलिस ने जांच प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए  मृतक दंपत्ति के साध आखिरी समय संपर्क में कौन था,जानने के लिए आसपास के सीसीटीवी फुटेज और सीडीआर खंगालते हुए शक को यकीन मे बदलते ही पुलिस द्वारा विशाल सिंह से गहन-कड़ी पुछताछ के दौरान उसने अपना जूर्म कबूलते हुए बताया,वह हरीवल्लभ की बेटी दृष्टि से शादी करना चाहता था,  लेकिन इसकेलिए दोनों दंपत्ति इंकार कर रहे थे । क्योंकि विशाल सिंह पहले से ही शादीशुदा था और उसका परिवार ग्वालियर में रहता है ।शनिवार शाम को दोबारा इस बात को लेकर हरि वल्लभ के इंकार करने पर उसने रसोई घर के चाकू से हरीवल्लभ की गर्दन व पेट पर ताबड़तोड़ वार करते हुए, उसकी पत्नी शांति को भी चाकू से मौत के घाट उतार दिया । इसके बाद उसने फोन करके अपने एक साथी संतोष राय उम्र (40) को बुलाकर अपने खून से सने कपड़े और चाकू को ठिकाने लगाते हुए सुबूत मिटाने का कहकर लूटपाट-हत्या का रंग देने के लिए दरवाजे को जाबुझकर खुला छोडकर हरीवल्लभ की बेटी दृष्टि को लेने चला गया । पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर उसके साथ संतोष राय  को गिरफ्तार करते हुए खून से सने कपड़े, चाकू ₹140500 कैश बरामद कर लिए हैं । आरोपी ने बड़ी मुस्तैदी से इस हत्या को लूटपाट की वारदात को अंजाम देना चाहा,लेकिन वह पुलिस की पैनी नजरों से बच न सका, और महज कुछ घंटों में पकड़ा गया । पुलिस ने मुख्य आरोपी विशाल सिह उर्फ विनोद को हत्या व संतोष राय को  सबूत मिटाने के आरोप की धारा तहत मामला दर्ज करते हुए जेल की सलाखों के अंदर पहुंचा दिया है ।  कुछ दिन पहले इसी तरह द्वारका में एक मीनू जैन मर्डर केस को पुलिस ने चौबीस घंटों में सुलझाया था । जिला-द्वारका पुलिस द्वारा आए दिन हत्या चोरी,तस्करी जैसे केसों का खुलासा करते हुए आरोपियों की धर-पकड़ लगातार जारी है । जो अपने आप में काबिले तारीफ है ।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply