द्वारका पुलिस ने डेढ़-करोड़ कैश वैन लूट का चार दिन में किया खुलासा, ड्राइवर और मुख्य-आरोपी को कैश सहित किया गिरफ्तार ।

द्वारका पुलिस ने डेढ़-करोड़ कैश वैन लूट का चार दिन में किया खुलासा, ड्राइवर और मुख्य-आरोपी को कैश सहित किया गिरफ्तार ।

अनीता गुलेरिया ।

द्वारका एसआईपीएल कंपनी जो एटीएम में पैसे डालती है 21 नवंबर दोपहर बारह बजे के करीब चार लोग जिसमें नरेंद्र कुमार और विकास चौहान दोनों कस्टोडियन मणिपाल-अस्पताल के अंदर बने यस-बैंक एटीएम में कैश डालने आए,जब वह कैश डालकर बाहर गए तो उन्होंने कैश वैन,ड्राइवर व गनमैन को वहां से गायब पाया । फोन करने पर ड्राइवर का स्विच ऑफ आने के थोड़ी देर बाद उन्हें सूचना मिली कैश वैन के दो लोग अस्पताल में घायल अवस्था में भर्ती हैं । पुलिस की पूछताछ दौरान ड्राइवर ने बताया जब वह गाड़ी में थे तो पीछे से दो लोग आए उसके साथ और गनमैन के साथ मार पिटाई करते हुए कैश-बॉक्स को लूटकर ले गए । ज्वाइंट-कमिश्नर वेस्टर्न-रेंज शालिनी सिंह ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस में मीडिया समक्ष बताते हुए कहा इतने बड़े लूट के मामले में पुलिस ने ड्राइवर के बयान को मद्देनजर रखते हुए डीसीपी एंटो अल्फोनस,एडिशनल डीसीपी आरपी मीना की गाइड-लाइंस के चलते, द्वारका एसीपी राजेंद्र सिंह यादव की अगुवाई में दो मजबूत टीमों का गठन किया गया जिसमें इंस्पेक्टर नवीन कुमार, इंस्पेक्टर सी एल मीना, इंस्पेक्टर बलवीर सिंह, एसआई मनजीत,एसआई अरविंद,महेंद्र,बीरेंद्र विकास,मुकेश, ए एसआई रंधावा,उमेश,हेड-कांस्टेबल सुरेंद्र,महेश कांस्टेबल दीपक,मनीष,कांस्टेबल विनीत दोनों टीमों द्वारा बहुत ही उम्दा और गहन तरीके से की गई कार्यशैली के चलते मणिपाल अस्पताल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज के डिजिटल मैप-स्कैनिंग तैयार किया गया,कैश वैन से फिंगरप्रिंट उठाए गए सारी टीमों ने एकजुट होकर सूचना-तंत्र माध्यमों से सारी जानकारी जुटाई, जिसमें मणिपाल अस्पताल के आसपास एक सफेद रंग की हुंडाई-एसेंट कार को वारदात के समय देखा गया तभी पुलिस उस गाड़ी का नंबर निकालते हुए दोपहर ढाई-बजे के करीब गाड़ी के मालिक औरय इस लूट को मुख्य रूप से अंजाम देने वाले मास्टरमाइंड राजेश उर्फ मदन उम्र (40) साल विजय विहार निवासी से तीस लाख कैश और लूट-वारदात के लिए इस्तेमाल की गई गाड़ी को बरामद किया,दूसरी तरफ स्वरूप-नगर बुराड़ी के कैश वैन ड्राइवर धीरज पूरी उम्र (35) साल पुलिस ने उसके घर पर छापेमारी करते हुए चौबीस लाख चालीस हजार कैश जब्त करते हुए अपने कब्जे में लिए । ज्वाइंट सीपी शालिनी सिंह ने बताते हुए कहा इस लूट के मुख्य मास्टरमाइंड राजेश उर्फ मदन लाल पर दो हत्या के मामले और दो लूट के मामले पहले से दर्ज हैं,जिसमे आखिरी लूट की वारदात पटेल नगर इलाके में कैश वैन लूट की थी, जिसको यह सही से अंजाम तक पहुचाने में कामयाब नहीं हो पाए थे और न्यायालय ने इसे भगोड़ा घोषित कर दिया गया था,
एक हत्या केस की सजा काटने के बाद बाहर आते ही आरोपी ने एक और हत्या को अंजाम दिया था । द्वारका पुलिस की मुस्तैदी व तेज गतिविधियों के चलते डेढ़-करोड़ रुपए की लूट के मामले मे पुलिस ने दिन रात मेहनत करके चार दिन में इसका खुलासा किया है । लूट-वारदात के दो आरोपी अभी भी फरार चल रहे हैं । पुलिस मामला दर्ज कर गहनता से छानबीन करते हुए भगोड़े मुजरिम की तलाश में जुटी है । द्वारका-पुलिस द्वारा डेढ-करोड रुपए की लूट का खुलासा करने के साथ,कई अन्य केसों का खुलासा होना अपने आप में बहुत बड़ी कामयाबी है, जो वाकई मेकाबिले तारीफ है । अपनी टीम का हौसला बढ़ाते हुए ज्वाइंट सीपी शालिनी सिंह ने लूट की बडी वारदात को मात्र चार-दिन में आरोपियों पर की गई धर-पकड़ के लिए समस्त-टीम को बधाई का पात्र बताया ।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar