दिल्ली के नजफगढ़ से पकड़ा अवैध हथियार तश्कर।

दिल्ली के नजफगढ़ से पकड़ा अवैध हथियार तश्कर।

नई दिल्ली-राकेश कुमार
समाधानवाणी
जिला द्वारका के स्पेशल स्टाफ ने एक ऐसे अवैध हथियार के तश्कर को अपनी गिरफ्त मे लिया है जो मध्य प्रदेश से टूरिस्ट बनकर बैग मे अवैध हथियारों की सप्लाई दिल्ली व अन्य शहरों मे करता था।पकड़ा गया हथियार तश्कर हरीश उर्फ सुंडा खर खरी रोड़ नजफगढ़ दिल्ली का रहने वाला हैं
जिला द्वारका पुलिस उपायुक्त के अनुसार जिले मे अवैध हथियारों की तश्करी करने वालों की धरपकड़ चल रही थी।इसी बीच पुलिस की स्पेशल स्टाफ को एक गुप्त सूचना मिली कि मध्यप्रदेश से अवैध हथियारों के साथ एक तश्कर आने वाला हैं।तभी एसीपी जोगिंदर जून के निरीक्षण मे इंस्पेक्टर नवीन कुमार की देख रेख मे सब इंस्पेक्टर रंजीव त्यागी, असि. सब इंस्पेक्टर उमेश हंस विजेंदर हवलदार सुमित शंकर, सिपाही संदीप, प्रवीण, कुलभूषण, रवि व अशोक के साथ एक टीम गठित कर सूचना द्वारा बताई जगह हरियाणा बॉर्डर, जाफर पुर बस स्टैंड नजफगढ़ पर ट्रैप लगाकर खड़े हो गए।पुलिस टीम ने तश्कर की पहचान कर उसे सरेंडर करने की बात कही मगर वो पुलिस को चकमा देकर भागने की कोशिश करने लगा मगर पुलिस टीम ने अपनी सूझभुझ से तश्कर को अपनी गिरफ्त में ले लिया।पुलिस ने जब उसकी तलाशी ली तो उसके पास से एक लोडिड पिस्टल मिली जिसे वो अपने पास हमेशा लगा कर रखता था।तथा उसके बैग से भी कई अवैध आधुनिक पिस्टल व आधा दर्जन जिंदा कारतूस बरामद किए।
पुलिस पूछताछ में तश्कर ने अपना नाम हरीश उम्र 32 वर्ष बताया।जो कि खरखरी नजफगढ़ का रहने वाला हैं और आठवीं कक्षा तक पढ़ा है।गलत संगत मे पड़ने के बाद वो रॉबरी व अवैध हथियार सप्लाई के मामले में कई बार जेल की हवा खा चुका है तथा पुलिस ने बताया कि वो थाना जाफरपुर का बीसी भी हैं।व कई मामलों मे वांछित हैं।तश्कर ने पुलिस को बताया कि वो मध्यप्रदेश से टूरिस्ट बस मे बैठकर व पुलिस की नजरों से बचने के लिए टूरिस्ट के साथ घुल मिल कर आता था तथा दिल्ली व आसपास के शहरों मे अवैध हथियारों की तश्करी करता था।मध्यप्रदेश के मानावर, ख़लगढ़ से लगभग तीस हजार रुपये प्रति पिस्टल खरीदकर मुनाफ़े मे बेचता था।सबसे ज्यादा वो नंदू गैंग को अवैध हथियार बेचता था।जिला द्वारका की स्पेशल पुलिस स्टाफ की टीम ने अवैध हथियारों की दिल्ली व आसपास के शहरों मे सप्लाई करने वाली एक बहुत बड़ी चैन को पकड़ने में कामयाबी हासिल की हैं जो कि वाकई काबिले तारीफ हैं।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Skip to toolbar