दिल्ली कमला-मार्केट पुलिस ने सूझबूझ से एक निर्भया को दरिंदगी का शिकार होने से बचाया ।

दिल्ली कमला-मार्केट पुलिस ने सूझबूझ से एक निर्भया को दरिंदगी का शिकार होने से बचाया ।

संवाददाता अनिता गुलेरिया

देश में आए दिन दुष्कर्म जैसे मामलों के चलते,पूरे देश के हर कोने में धरना-प्रदर्शन के जरिए जनता मे भारी गुस्सा देखने को मिल रहा है,वही दिल्ली पुलिस भी अपने-अपने इलाके मे इन गंभीर मामलों पर पूरी सतर्कता से काम कर रही है । कमला मार्केट थाना के सब-इंस्पेक्टर दिनेश व सिपाही महेश दोनों अमरजेंसी ड्यूटी पर थे,तभी उन्होंने अजमेरी गेट के दिल्ली रेलवे-स्टेशन पर एक लड़की को बदहवास-हालत में देखा, तकरीबन आधा घंटा उस पर नजर रखते हुए उन्होंने लड़की के पास जाकर उसके घर जाने को कहा,लेकिन बुरी तरह से डरी सहमी लड़की ने रोते हुए कहा,वह नेपाल से दिल्ली आई है और अब उसे नहीं पता कि वह कहां जाए, पूरी स्थिति का जायजा लेने के बाद महिला पुलिस को बुलाते हुए उसे थाने ले जाया गया,पूछताछ-दौरान उस लड़की ने बताया,मेरा इस दुनिया में कोई नहीं है,पहले से उसके पिता का निधन हो चुका था और एक हफ्ता भर पहले उसकी मां भी मर गई और,वह अकेली काम करने यहा दिल्ली आई थी,मुझे समझ नहीं आ रहा मै काम ढूढने कहां जाऊ, वह कई दिनों से दिल्ली की सड़कों पर भूखी-प्यासी घूम रही है । पुलिस वालों ने उसे भर-पेट भोजन कराने के बाद तुरंत महिला-आयोग में सूचना देते हुए उसे महिला-आश्रम भिजवा दिया । यदि पुलिस की यह अनदेखी हो जाती और उस लड़की के कदम अजमेरी गेट से कुछ कदमों की दूरी पर रेड-लाइट एरिया की ओर चले जाते,तो वह वेश्यावृत्ति जैसे दलदल में धंस जाती । इस तरह सही सूझबूझ और चौकस निगाहों ने एक असहाय लड़की को निर्भया बनने से बचा लिया, आला-अधिकारियों ने अपने दोनों होनहार-पुलिसकर्मियों पर नाज जाहिर करते हुए कहा हम इनकी कार्यशैली से अपने आपको गौरवान्तिव महसूस कर रहे हैं । सारे देश का इन जांबाज-वीरबहादुर सिपाहियों को तहेदिल से सलाम है ।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply