जिला द्वारका इलाके में नकली एस डी एम बन करता था वसूली

जिला द्वारका इलाके में नकली एस डी एम बन करता था वसूली

नई दिल्ली-द्वारका -राकेश कुमार
         समाधानवाणी
थाना द्वारका सेक्टर23के अंतर्गत 24 जनवरी की रात करीब11:30 बजे के करीब एक टाटा ट्रक राजसथान से सीमेंट लेकर आ रहा था तभी ट्रक ड्राइवर ने पीछे से आते एक सायरन की आवाज़ सुनाई जिसने ट्रक के आगे आकर रुकने का इशारा किया तथा धनवापुर नियर वामनोली गांव के पास रोक लिया।ट्रक ड्राइवर ने देखा कि एक वेगनआर कार उनके पास आकर रुकी जिसमे की दो लोग बैठे थे जिनमें से एक उतरकर ट्रक ड्राइवर के पास आया और बोला कि एस डी एम साहब रेड पर है तथा ट्रक का निरीक्षण कर बोला कि तुम्हारा ट्रक ओवरलोड है, इस पर ट्रक ड्राइवर ने कहा कि इसमें 200 बोरी सीमेंट की हैं।इस पर उस व्यक्ति ने 50 बोरी उतारने की सलाह दी मगर ड्राइवर के मना करने पर वो लोग जबरदस्ती डरा धमकाकर ट्रक को धुलसिरस तक ले गए तथा बीस, पचीस बोरी सीमेंट उतार लिया व ड्राइवर को ट्रक सहित धमकाकर भगा दिया।
जिला पुलिस उपायुक्त अन्टो अल्फोन्स के अनुसार जिला द्वारका मे एक कॉरिडोर पेट्रोलिंग चल रही थी जो कि क्रिमिनल वारदातों को रोकने के लिए चलाई गई थी। एसीपी द्वारका राजेन्द्र सिंह के नेतृत्व में द्वारका सेक्टर 23 एस एच् ओ सन्तन सिंह रावत  व ऐ एस आई राजकुमार, हवलदार देवीदास व सिपाही बंटी लाल शामिल थे।जब ये लोग बरतल चौक के शमशान घाट के पास थे तो इनके पास एक व्यक्ति भाग कर आया जो कि उसी ट्रक का ड्राइवर हरि सिंह था उसने अपनी सारी घटना की जानकारी पुलिस को बतलाई।पुलिस तुरन्त घटना वाली जगह पहुँच कर वारदात में इस्तेमाल वेगनआर सहित दो लोगो को पकड़ लिया तथा मौका देख कर स्विफ्ट डिजायर कार जिसमें की सीमेंट की बोरी लोड थी चकमा देकर भाग गए मगर पुलिस ने तुरंत वायरलेस पर कार का मैसेज कर दिया।मौके पर कुछ दूरी पर गस्त कर रही ERV ने सेक्टर 22 के पास स्विफ्ट डिजायर को पकड़ लिया।जिसमे की दो लोग व लूटी गई सीमेंट की बोरी पकड़ ली।
बाद में पुलिस पूछताछ करने पर पकड़े गए चारों आरोपियों मे एक जो कि इस गैंग का सरगना व खुद को SDM बताता था अपना नाम सत्यवान बताया तथा साथ मे उसका ड्राइवर बनकर चलने वाले का नाम दिलीप बताया।सत्यवान ने पुलिस को बताया कि उसका टैक्सी का काम था जो कि SDM के पास कॉन्ट्रैक्ट पर चल रही थीं जिसे वह खुद चलाता था मगर कुछ महीनों पहले  मई 2018 मे उसका टैक्सी कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो गया मगर उसने टैक्सी पर से SDM व गवर्मेन्ट ऑफ delhi नही मिटवाया तथा सत्यवान SDM की पावर और उसके काम से भलीभांति परिचित था इसलिए नकली SDM बन कर लोगों से जबरन उगाही का काम शुरू कर दिया।इसमे सत्यवान के साथ उसके दोनों बेटे देवेंद्र और पंकज जो कि स्विफ्ट डिजायर कार चला रहे थे सीमेंट की बोरियों समेत पकड़ लिया था।चारों पकड़े गए आरोपी साध नगर ममता बेकरी पालम कॉलोनी नई दिल्ली के रहने वाले हैं।पुलिस ने इनके पास से वारदात में इस्तेमाल एक वेगनआर कार व एक स्विफ्ट डिजायर कार व 19 बोरी सीमेंट बरामद कर सेक्टर 23 द्वारका थाने मे आई पी सी की धारा 384/411/419/34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply