आखिर दिल्ली कहाँ से है सुरक्षित-कौन कहता है कि दिल्ली सुरक्षित है।

आखिर दिल्ली कहाँ से है सुरक्षित-कौन कहता है कि दिल्ली सुरक्षित है।

नई दिल्ली-राकेश कुमार
समाधानवाणी
रोज दिल्ली के हर जिले मे होती है गैंगवार, महिलाओं से छेड़छाड़, सीनियर सिटीजन,हत्या, बच्चों से रेप, व डयूटी पर पुलिस वालों की पिटाई व हत्या, पकड़े जाते है नशे के सौदागर, अवैध हत्यार, अवैध व्यापार, आये दिन होती हैं छुरे घोंपने स्नैचिंग, लूटपाट, रोडरेज व चोरी की वारदातें।इनमें अधिकतर वारदातें सड़को पर पब्लिक के बीच होती हैं।ऐसे मे दिल्ली पुलिस आयुक्त व जिलों के पुलिस उपायुक्त कहते है,दिल्ली सुरक्षित हैं।दिल्ली राजधानी होने के बाबजूद इस बदतर हालातों से गुजर रही हैं।पिछले कई घंटों में ही असमाजिक तत्वों ने किसी न किसी रूप मे किसी न किसी को अपना निशाना बनाया है।आखिर इतने अवैध हत्यार, नशो के साधन, क्रिमनल दिल्ली जैसी राजधानी मे ऐसे कौन से गुप्त रास्ते से घुस रहे हैं कि पुलिस सोती रह जाती हैं और असामाजिक तत्व पुलिस की नाक के नीचे से गुजर जाते है या यूं कहिए कि पुलिस को ठेंगा दिखा कर आसानी से निकल जाते हैं।आखिर पुलिस को भी तब पता चलता है जब वारदात को अंजाम दिया जा चुका होता हैं।पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक बीते दिनों मे लगभग दो सौ फीसदी अपराध मे बढ़ोतरी हुई हैं।जबकि पुलिस आयुक्त का दावा है कि दिल्ली शहर मे अपराध कम है।ये तो सोशल मीडिया पर लोगों का कहना हैं कि आये दिन ऐसी वारदातों को देखकर लगता हैं कि हमारे बच्चों का भविष्य भी सुरक्षित नहीं हैं। लोग सोशल मीडिया के द्वारा पुलिस पर अपना गुस्सा निकाल रहे हैं तथा कह रहे हैं कि ऐसा लगता है कि पुलिस महाभारत के धृतराष्ट्र व क्रिमनल कौरवो की सेना का रोल अदा कर रही हैं।

administrator, bbp_keymaster

Related Articles

Leave a Reply